Follow us on Facebook

Ads Here

Tuesday, 25 May 2021

Amnesty international

Amnesty international –

यह सम्पूर्ण विश्व में कार्य करता है। विभिन्न देशों में दण्ड पाये हुये व्यक्ति के लिये कार्य करता है 1977 में  इसे नोबेल पुरस्कार मिला | एक लाख से ज्यादा इसके सदस्य है। यह व्यक्ति के मानवाधिकारों की रक्षा करता है। राजनीतिक कारणों से जिन व्यक्तियों को बन्दी बनाया गया हो, उनके लिये कार्य करता है।
Amnesty International का प्रसिद्ध व मजबूत होने के कारण  –
कार्यों का सीमित दायरा-डेविड ईस्टर्न, ” शोध की ईकाई जतनी कम होगी कार्य में उतनी गम्भीरता बढ़ेगी।”
•कैदियों के व्यक्तिगत मामलों पर केन्द्रित
विश्वसनीय तथ्यों के आधार पर जांच कार्यों की शुरुआत –
हर देश के अन्दर शोध समूह बनाये गये हैं उस आधार जांच करके कार्यवाही की जाती है। हेडक्वार्टर, लंदन  के अन्दर एक शोध केन्द्र बना रहे हैं वहाँ शोध में   विश्वसनीयता होने पर कार्यवाही की जायेगी ।

सदस्यों  की प्रतिभागिता को महत्व –

 सदस्यों की सहभागिता सक्रियता  व स्थानीय लोगों को महत्व दिया जाता है।
सरकारों के प्रति नैतिक प्रतिबध्दता-
सरकारों के प्रति नैतिक  प्रतिबद्धता व समस्या का समाधान लोकतांतिक तरीके से कार्य करेगा।

कार्यों में निष्पक्षता  –

उदाहरण –  हर महीने हर देश से दो राजनीतिक बन्दियों चुना जाता है व उसे किस प्रकार की यातनाए दी जा रही है उस पर रिपोर्ट प्रस्तुत की जायेगी। Amnesty International के जो सदस्य है वो किसी भी राजनीतिक दल के सदस्य नहीं होंगे ।

नीति बनाने व नीति का क्रियान्वयन

वित्तीय साधनों की स्वतन्त्रता –

•अन्तर्राष्ट्रीय उत्तरदायित्वों के प्रति प्रतिबद्धता –

संगठन –

इसके संगठन के अन्तर्गत सम्बन्धित समूह व व्यक्ति होते हैं। Section से तात्पर्य किसी देश में स्थापित संस्था व कार्यालय से होता है जो कि अन्तर्राराष्ट्रीय कार्यकारी कमेटी की स्वीकृति से स्थापित किया जाता है।
अन्तर्राष्ट्रीय कार्यकारी समिति इस Section को निम्न – आधारों पर मान्यता प्रदान करते हैं।
1. Amnesty International की कार्यकारी गतिविधियां
2. इसके अन्तर्गत कम से कम दो समूहों को जिनमें 20
सदस्य हों ।
3. इसके द्वारा संविधि को अन्तर्राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद के पास स्वीकृति करने के लिये योजना अनिवार्य होती है ।
यह सम्पूर्ण विश्व में कार्य करता है। विभिन्न देशों में दण्ड पाये हुये व्यक्ति के लिये कार्य करता है 1977 में  इसे नोबेल पुरस्कार मिला | एक लाख से ज्यादा इसके सदस्य है। यह व्यक्ति के मानवाधिकारों की रक्षा करता है। राजनीतिक कारणों से जिन व्यक्तियों को बन्दी बनाया गया हो, उनके लिये कार्य करता है।

Amnesty International का प्रसिद्ध व मजबूत होने के कारण  –

कार्यों का सीमित दायरा-डेविड ईस्टर्न, ” शोध की ईकाई जतनी कम होगी कार्य में उतनी गम्भीरता बढ़ेगी।”
•कैदियों के व्यक्तिगत मामलों पर केन्द्रित
विश्वसनीय तथ्यों के आधार पर जांच कार्यों की शुरुआत –
हर देश के अन्दर शोध समूह बनाये गये हैं उस आधार जांच करके कार्यवाही की जाती है।हेडक्वाटर, लंदन  के अन्दर एक शोध केन्द्र बना रहे हैं वहाँ शोध में   विश्वसनीयता होने पर कार्यवाही की जायेगी ।

सदस्यों  की प्रतिभागिता को महत्व –

 सदस्यों की सहभागिता सक्रियता  व स्थानीय लोगों को महत्व दिया जाता है।

सरकारों के प्रति नैतिक प्रतिबध्दता-

सरकारों के प्रति नैतिक  प्रतिबद्धता व समस्या का समाधान लोकतांतिक तरीके से कार्य करेगा।

कार्यों में निष्पक्षता –

उदाहरण –  हर महीने हर देश से दो राजनीतिक बन्दियों चुना जाता है व उसे किस प्रकार की यातनाएंग दी जा रही है उस पर रिपोर्ट प्रस्तुत की जायेगी। Amnesty International के जो सदस्य है वो किसी भी राजनीतिक दल के सदस्य नहीं होंगे ।

नीति बनाने व नीति का क्रियान्वयन –

•वित्तीय साधनों की स्वतन्त्रता 
अन्तर्राष्ट्रीय उत्तरदायित्वों के प्रति प्रतिबद्धता

संगठन –

इसके संगठन के अन्तर्गत सम्बन्धित समूह व व्यक्ति होते हैं। Section से तात्पर्य किसी देश में स्थापित संस्था व कार्यालय से होता है जो कि अन्तर्राराष्ट्रीय कार्यकारी कमेटी की स्वीकृति से स्थापित किया जाता है।
अन्तर्राष्ट्रीय कार्यकारी समिति इस Section को निम्न – आधारों पर मान्यता प्रदान करते हैं।
1. Amnesty International की कार्यकारी गतिविधियां
2. इसके अन्तर्गत कम से कम दो समूहों को जिनमें 20
सदस्य हों ।
3. इसके द्वारा संविधि को अन्तर्राष्ट्रीय कार्यकारी परिषद के पास स्वीकृति करने के लिये योजना अनिवार्य होती है
इनके अंगों के सदस्यों का निर्वाचन करना और उन्हें उनके कार्यों के लिए
उत्तरदायी बनाना, एवम निश्चित की गई राणनीति  का परीक्षण करना।

 अन्तर्राष्ट्रीय कार्यकारी कमेटी –

इसमें कुल 9 सदस्य हैं इनमे एक कोषाध्यक्ष अन्तर्राष्ट्रीय सचिवालय का एक प्रतिनिधि व 7 निर्वाचित सदस्य होते हैं । 7 सदस्य या तो Amnesty Intermtional के व्यक्तिगत सदस्य या Section संबद्ध सदस्यों में से होते हैं। नियमित सदस्यों और कोषाधिकारी का चुनाव अन्तर्राष्ट्रीय परिषद् द्वारा होता है। section में एक से अधिक व्यक्ति को नियमित सदस्य नहीं चुना जाता। अन्तर्राष्ट्रीय सचिवालय में से चुने गये सदस्य के अतिरिक्त अन्य सदस्यों का कार्यकाल 2 वर्ष होता है। कमेटी के अध्यक्ष के रूप में कमेटी के सदस्यों में से एक की 1वर्ष के लिये 5 सदस्यों का होना अनिवार्य है। इस कार्यकारिणी प्रमुख कार्य निम्न हैं।
1. एमनेस्टी इंटरनेशनल की अन्तर्राष्ट्रीय सदस्यों व विभिन्न अंगो के लिये नेतृत्व प्रदान करना।
Amnesty International के लिये अन्तर्राष्ट्रीय निर्णय लेना एक सक्षम वित्तीय विधि का निर्धारण करना जो Amnesty International के अन्तर्राष्ट्रीय उद्देश्यों को प्राप्त करने में सहायक हो ।

Amnesty International का अन्तर्राष्ट्रीय सचिवालय –

 Amnesty International के दैनिक कार्यों के संचालन के लिये सचिवालय का गठन किया गया है जिसका प्रमुख महासचिव कहलाता है जो कि अन्तर्राष्ट्रीय कार्यकारिणी समिति के दिशा निर्देशन में कार्य करता है। इसका मुख्यालय लन्दन में हैं। सचिवालय ‘ के अन्य सदस्यों की नियुक्ति महासचिव द्वारा की जाती है। महासचिव का पद रिक्त होने की स्थिति में अन्तर्राष्ट्रीय कार्यकारी समिति का अध्यक्ष उसके सदस्यों की सहमति पर महासचिव के रूप में कार्य करता है। Amnesty International के सचिवीय कार्यों को पूर्ण करने का प्रमुख दायित्व सचिवालय का होता है ऐसे क्षेत्रों में शोध कार्य कराती है जहाँ मानवाधिकारों के हनन के अधिक मामले आते  हैं। संस्था द्वारा विभिन्न देशों में भेजे जाने वाले कर्मचारियों की नियुक्ति सचिवालय द्वारा की जाती है।
Amnesty International – मानव अधिकार के हनन जांच व  तीन बातों अर्थात स्वतन्त्रता, सार्वभौमिकता, निस्पक्षता को ध्यान में रखकर की जाती है।
 इसके लिये जाँच समूह के सदस्यों को उसी  देश  के किसी व्यक्ति को समूह में नहीं रखा जाता है। जाँच समूहों की रिपोर्ट के आधार पर संस्था द्वारा उस देश पर दबाव डाला जाता है व मानव अधिकार कि संरक्षण के लिये प्रयासों को बढ़ावा देने के लिये प्रोत्साहित किया जाता है। सरकार के साथ-साथ संस्था विभिन्न देशों की जनता में जागरूकता लाकर उसे अपने अधिकारों के लिये आवाज उठाना सिखाती है। मानव अधिकारों के हनन के मामलों को सुलझाने के लि जनता के माध्यम से सरकारों पर दबाव बनाया है। संस्था के कार्यों को देखते हुये संस्था को संयुक्त राष्ट्र संघ की सामाजिक व आर्थिक परिषद में परामर्श का स्तर प्रदान किया गया है इसके ही संस्था UNESCO, यूरोपीय यूनियन अमेरिकी माानवाधकार आयोग, अफ्रीकी संघ आदि की सहायक
अंग के रूप में कार्य करती है। मानव अधिकार के संरक्षण  के लिये अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर इसने महत्वपूर्ण योगदान दिया है।

No comments:

Post a Comment