Follow us on Facebook

Ads Here

Wednesday, 25 November 2020

रोशनी एक्ट क्या है ?

 

रोशनी एक्ट क्या है ? what is roshni act ?

2001 मैं फारूक अब्दुल्ला के नेतृत्व में  जम्मू – कश्मीर सरकार द्वारा रोशनी अधिनियम लाया गया था । जिन लोगों ने राज्य के स्वामित्व वाली जमीन पर कब्जा किया था उन्हें जमीन का मालिकाना हक दे दिया गया था।

कानून का उद्देश्य

इस कानून का उद्देश्य बिजली संकट से बचने के लिए राज्य की भूमि को हस्तांतरित कर दिया गया था ,जिसमें जल विद्युत परियोजना के लिए धन जुटाया जा सके। 1990 से पहले अवैध रूप से इन जमीनों पर कब्जा किया गया था। रोशनी अधिनियम में बड़े पैमाने पर जमीन की खरीद बिक्री हुई।

भूमि जिहाद

रोशनी एक्ट में जमीन की अत्यधिक खरीद बिक्री की है जिससे मैं गरीबों ने मकान, इमारतों तथा घरों में लाखों रुपए निवेश किए थे। जम्मू में हिंदू पहनता क्षेत्रों में अधिनियम पारित किया गया जिसे भूमि जिहाद का नाम दिया गया।

सत्यपाल मलिक अधिनियम पर लगाई रोक

2018 में सत्यपाल मलिक( गवर्नर) ने इस अधिनियम में जमीन लेन-देन पर रोक लगा दी रोशनी अधिनियम निरस्त कर दिया 31 अक्टूबर 2020 को जम्मू कश्मीर ने कहा की रोशनी अधिनियम का दुरुपयोग के संबंध में रिपोर्ट प्रस्तुत किया।

जम्मू एवं कश्मीर न्यायालय का निर्णय

जम्मू एवं कश्मीर में रोशनी अधिनियम की  सीबीआई जांच के पश्चात यह बयान आया कि इस अधिनियम में 25000 करोड़ रुपए  से अधिक का घोटाला हुआ है।
जम्मू -कश्मीर प्रशासन ने राज्य की स्वामित्व भूमि पर कब्जा हटाने के लिए 6 महीने के भीतर विवादास्पद रोशनी अधिनियम के तहत वितरित भूमि  को फिर से प्राप्त करने के लिए प्रयास कर रही है जिसमें हजारों गरीबों को बेघर कर दिया
रोशनी एक्ट में घोटाले में  राजनेता एवं नौकरशाह भी शामिल है।

No comments:

Post a Comment